कराग्रे वसते लक्ष्मी मंत्र | Karagre Vasate Lakshmi Mantra in Hindi

एक पुरानी कहावत है कि संघर्ष ही जीवन है। व्यक्ति चाहे जो भी कार्य करें लेकिन उसे उसमें संघर्ष करना होता है। किसी भी कार्य में सफलता के लिए संघर्ष के साथ उचित फोकस होना बहुत जरूरी होता है। व्यक्ति को अपने जीवन में संघर्ष करने और फोकस प्राप्त करने लिए कराग्रे वसते लक्ष्मी मंत्र (Karagre Vasate Lakshmi Mantra in Hindi) का जाप करना होता है।

- Advertisement -

कराग्रे वसते लक्ष्मी मंत्र | Karagre Vasate Lakshmi Mantra in Hindi

कराग्रे वसते लक्ष्मीः
करमध्ये सरस्वती ।
करमूले तु गोविन्दः
प्रभाते करदर्शनम ॥

कराग्रे वसते लक्ष्मी मंत्र का अर्थ: हे लक्ष्मी हमारे हाथ के अग्रभाग में आपका निवास है। हमारे हाथ के मध्य भाग में विद्यादात्री सरस्वती का निवास है और हमारे हाथ के मूल भाग में विष्णु का निवास है। हे लक्ष्मी हम प्रभात काल में आपका दर्शन करता हूं।

कराग्रे वसते लक्ष्मी मंत्र का जाप प्रातः काल में करना होता है। इस मंत्र का जाप करने से पहले शारीरिक रूप से स्वच्छ हो जाना होता है। इस मंत्र का जाप करते समय माता लक्ष्मी का फोटो अपने सामने रखना होता है। इस मंत्र के जाप के दौरान माता लक्ष्मी के सामने घी के दीये जलाने होते है। इस मंत्र का जाप करते समय नमस्कार की मुद्रा में खड़ा रहना होता है। इस मंत्र का जाप प्रतिदिन करना होता है। कराग्रे वसते लक्ष्मी मंत्र का जाप अपने इच्छा अनुसार पांच बार या सात बार करना होता है।

इसे भी पढ़े: भगवान शिव के इस चमत्कारी मंत्र से पूर्ण होती है मनुष्य की सारी मनोकामना, आज ही करें इसका जाप और देखे फायदे

इस मंत्र के प्रभाव से मनुष्य संघर्षों पर विजय प्राप्त करता है। इस मंत्र से आम आदमी के फोकस में सुधार होता है। इस मंत्र के प्रभाव से व्यक्ति आत्मविश्वास प्राप्त करता है। इस मंत्र से वित्तीय समस्याओं का निवारण होता है। इस मंत्र के प्रभाव से व्यक्ति सकारात्मक बनता है और बेहतर निर्णय लेने का तरीका सीखता है। यह मंत्र छात्रों को पढ़ाई में मदद करता है। इस मंत्र से दृष्टि में सुधार होता है और रचनात्मकता का द्वार खुलता है। इस मंत्र के प्रभाव से प्रति दिन की शुरुआत शानदार होती है।

- Advertisement -