कृष्ण महा मंत्र हिंदी में । Krishna Maha Mantra in Hindi

श्री कृष्ण की भक्ति हमारे भीतर बसे भगवान के प्रति प्रेम भाव को जगाती है। आज के इस नए दौर में भक्ति भाव का अभाव होता जा रहा है, लोग अपने जीवन में इतने व्यस्त हो गए हैं की उन्हें ईश्वर को समर्पित करने का समय तक नहीं है। श्री कृष्ण के मंत्र आपको ईश्वर से जोड़ते हैं और आपके भीतर एक अनुपम शांति और प्रसन्नता का भाव लाते हैं।

कृष्ण महा मंत्र हिंदी में । Krishna Maha Mantra in Hindi

हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे ||
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे ||

- Advertisement -

कृष्ण महा मंत्र का विवरण :
प्रभु श्री कृष्ण को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। उन्हीं भगवान विष्णु के दो अवतारों को समर्पित यह मंत्र भक्ति भाव की पराकाष्ठा प्रस्तुत करता है। आपने अकसर ही इस मंत्र का जाप अपने आस-पास भजन कीर्तन में सुना होगा। इसके माध्यम से हम भगवान विष्णु के दोनों अवतार का स्मरण करते हैं और उनकी कृपा पाने के लिए उनसे प्रार्थना करते हैं।

यह एक बड़ा ही प्रभावशाली मंत्र है जिसके जाप से आप स्वयं पर नियंत्रण अर्थात अपने मन मस्तिष्क पर अपना काबू पा सकते हैं, इससे आपका मन सांसारिक मोह माया में नहीं फँसता और बुरे विचारों से दूर रहता है। इस मंत्र के जाप से आप स्वयं को भगवान के करीब पाते हैं और यह आपके अंतर मन में एक प्रसन्नता का संचार करता है, जिससे आप अपने भीतर शांति महसूस करते हैं।

यह भी पढ़ें: खोडियार माँ की पूजा मुख्य तौर पर गुजरात और राजस्थान के क्षेत्रों में की जाती है, जानें उनका यह मंत्र और क्या है उनके पूजन के पीछे की कहानी।

कहते हैं की जो भी इस मंत्र का जाप भक्ति भाव से करता है वह स्वयं को जान लेता है, उसे आत्म ज्ञान की प्राप्ति होती है जो व्यक्ति विशेष को इन सांसारिक भाव से परे करती है। उसे ना मृत्यु का भय होता है, ना जीने का लालच, ना धन का अभाव, ना धन पाने का मोह। इन सभी भावनाओं से वह स्वयं को ऊपर पाता है, और अपने सकारात्मक कर्मों से अपना भविष्य स्वयं बनाता है।

- Advertisement -