इस एक दीपक में ‘घर पर नहीं’ शब्द को पूरी तरह से नष्ट करने की शक्ति है। यदि आप सप्ताह में एक दिन यह दीपक जलाते हैं तो आपको देवी की पूर्ण कृपा प्राप्त होगी।

हमेशा यह नहीं कहना चाहिए कि रसोई में न चैन है, न नींद है, न सुख है, न पैसा है, न अनाज है, यानी घर में चावल की दाल नहीं है। यह ‘नहीं’ शब्द आपके घर में किसी भी चीज़ की जगह नहीं ले सकता। यदि और कुछ नहीं, तो इस शब्द का बार-बार प्रयोग न करें। इस शब्द का प्रयोग हमने कई बार रिकॉर्ड करने के लिए किया है। अगर आप इस तरह बार-बार ना कहते रहेंगे तो संभावना है कि उस वस्तु को प्राप्त करने का अस्तित्व मिट जाएगा। इसलिए बेहतर है कि इस संतोष के साथ जीने की आदत डाल लें कि सब कुछ है। खैर तांत्रिक में ऐसा क्या किया जा सकता है जिससे धन, शांति और सुख प्राप्त हो जो हमारे पास नहीं है।

इस पोस्ट के माध्यम से हम भगवान से प्रार्थना करके आध्यात्मिक कदम पर आधारित तांत्रिक में एक सरल उपाय जानने जा रहे हैं। इस दीपम का नाम सेमबरूथी पत्ता दीपम है। इस दीये को कैसे जलाएं। सप्ताह में एक दिन यह दीपक घर में जला सकते हैं। मंगलवार, शुक्रवार, सोमवार, जो भी दिन आपके लिए सुविधाजनक हो, चुनें।

- Advertisement -

एक सुंदर अरहुल के पत्ते के ऊपर नारियल का तेल लगाएं, उसके ऊपर मिट्टी का दीपक रखें, घी डालें, सफेद सूती धागा डालें, दीपक जलाएं और पूजा कक्ष में रख दें। आप अन्य लाइटें भी जला सकते हैं जो आमतौर पर आपके घर में जलाई जाती हैं। यह एक दीपक भी जलाएं और इस दीपक के सामने बैठ कर देवता को याद करें और अपने मन को साधते हुए अपना आशीर्वाद मांगें।

पूजा को हार्दिक प्रार्थना और एक छोटी कपूर आरती के साथ समाप्त करें। दीपक को तब तक जलने दें जब तक तेल खत्म न हो जाए। इसके बाद अगले दिन गुड़हल के फूल के पत्ते को ऐसे स्थान पर रख दें, जहां उसपर किसी के पैर न पड़ें। अगले हफ्ते आप उसी मिट्टी के दीये को साफ करके ताजा अरहुल के पत्ते में जला सकते हैं।

इस दीप के समक्ष सच्ची श्रद्धा से जो भी वरदान मांगा जाए वह तुरंत प्राप्त हो जाता है। यह दीपक उस देवता को घर में लाने की शक्ति रखता है और आपकी आवश्यकताओं को तुरंत पूरा करता है। यदि आप असीमित धन चाहते हैं, यदि आप एक संतुष्ट जीवन चाहते हैं, यदि आप सुखों की हानि से पीड़ित हैं, यदि पति-पत्नी के बीच सामंजस्य नहीं है, यदि बच्चे एक-दूसरे की बात नहीं मानते हैं, तो यह पूजा आपको अन्य चीजों को पूरा करने में मदद करेगी। जो लोग गरीबी में रहते हैं, वे भी इस उपाय से लाभान्वित हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें: इस विधि को दो इलायची के साथ आजमाएं। धन किसी ना किसी दिशा से आता रहेगा। ये शुक्र योग ही आपके लिए है।

कुछ लोगों के घर में कोई देवी-देवता नहीं होते हैं। यानी जैसा कि मैंने पहले कहा, जिस घर में कुछ नहीं होता, वहां सिर्फ दरिद्रता का वास होता है। कुछ ही दिनों में आप इस दीये की महिमा को समझ सकेंगे जो ऐसी दरिद्रता के अंधकार को दूर कर पूर्ण ईश्वरीय कृपा ला सकता है। इसे आज़माइए। यदि आप इस दीपक को लगातार तीन सप्ताह तक जलाते हैं, तो आपको प्रगति का पता चल जाएगा।

- Advertisement -