भगवान शिव मंत्र | Bhagwaan Shiv Mantra in Hindi

भगवान शिव का मंत्र सभी मंत्रो में सबसे ज्यादा फलदायी है। यदि कोई व्यक्ति भगवान शिव को इस मंत्र के माध्यम से प्रसन्न करता है तो उसे वो सब चीजे आसानी से मिल जाती है जिसकी वो इच्छा रखता है। भगवान शिव को महाकाल भी कहा जाता है। भगवान शिव को मनुष्य के प्रति दया का प्रतीक माना जाता है। आइए हम आपको यहाँ भगवान शिव के मंत्र (Bhagwaan Shiv Mantra in Hindi) का उच्चारण विधि बताते है।

- Advertisement -

भगवान शिव मंत्र | Bhagwaan Shiv Mantra in Hindi

ॐ शिवाय नम:
ॐ सर्वात्मने नम:
ॐ त्रिनेत्राय नम:
ॐ हराय नम:

भगवान शिव मंत्र का अर्थ: हे भगवान शिव आपको हमारा प्रणाम, आप सब जगह व्याप्त है। हे तीन नेत्र वाले प्रभु आपको हमारा प्रणाम है। हे महादेव आप सब दुखों को हरने वाले है। आप हम पर कृपा करें।

भगवान शिव को प्रसन्न करने का विभिन्न तरीका है लेकिन यह तरीका उन सब तरीकों में सर्वोत्तम है। इससे भगवान शिव आसानी से प्रसन्न हो जाते हैं। भगवान शिव के इस मंत्र का जाप सप्ताह के किसी भी दिन किसी भी समय किया जा सकता है, बस शारीरिक रूप से स्वच्छ होना चाहिए। इस मंत्र का जाप शिवलिंग के सामने करना होता है।

भगवान शिव के इस मंत्र का जाप करते समय नमस्कार की मुद्रा में रहना होता है। इस दौरान शिवलिंग पर धथुरा का फूल चढ़ाना होता है। इस मंत्र का जाप ग्यारह बार करना होता है। भगवान् शिव के इस मंत्र का जाप कम से कम सात सप्ताह करने से उचित फल प्राप्त होता है। भगवान शिव के इस मन्त्र के पाठ से भय दूर होता है और मनुष्य निडर बनता है।

इसे भी पढ़े: विद्यार्थी प्रतिदिन करें मां सरस्वती के इस शक्तिशाली मंत्र का जाप और अपने जीवन को बनाए सफल

भगवान शिव के इस मंत्र के प्रभाव से मनुष्यों को रोगों से मुक्ति मिलती है। भगवान शिव के इस मंत्र के नियमित जाप से व्यक्ति को अपने जीवन में सफलता हासिल होती हैं और मनोकामना पूर्ण होती है।

- Advertisement -