माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र हिंदी में । Brahmacharini mantra in Hindi

माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र हिंदी में । Brahmacharini mantra in Hindi

यह तो हम सभी अच्छी तरह से जानते है की नवरात्रि के 9 दिनों में माँ के 9 स्वरूपों की उपासना की जाती है। नवरात्री का दूसरा दिन माँ ब्रह्मचारिणी को समर्पित होता है। इस दिन सभी लोग माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा पूर्ण श्रद्धा के साथ करते है। माँ ब्रह्मचारिणी को तपस्या, ज्ञान और वैराग्य की देवी भी कहा जाता है।

- Advertisement -
   

ऐसे छात्र जो किसी परीक्षा या प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे है अक्सर उन्हें मनचाही सफलता पाने के लिए माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा करने की सलाह दी जाती है। चलिए अब हम आपको माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र इन हिंदी
या देवी सर्वभूतेषु मां ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र जप विधि
माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र का जाप करने के लिए सूर्योदय से पहले उठ कर स्नान करके साफ कपड़ें पहन लें। उसके बाद किसी साफ स्थान पर साफ आसन बिछा कर बैठ जाएं। अपने सामने एक चौकी पर साफ लाल रंग का कपड़ा बिछाकर उस कपड़ें के ऊपर माँ ब्रह्मचारिणी की फोटो या मूर्ति को रख दें।

माता की फोटो पर गंगाजल छिड़क कर स्नान करा दें। उसके बाद माता के सामने दीपक और धूप बत्ती जला दें। फिर माता का अभिषेक करके माता को पुष्प, फल और मिठाई अर्पित करें। फिर माता की आरती और चालीसा का पाठ करें। पाठ समाप्त होने के बाद ऊपर बताए गए मंत्र का जाप 108 बार करें।

यह भी पढ़ें: बजरंग बलि यानी हनुमान जी की पूजा और उनके मंत्रों का जाप आपको आपके जीवन की सभी परेशानियों से छुटकारा दिला सकता है और आप भी एक खुशहाल जीवन जी सकते हैं।

मंत्र जाप समाप्त होने के बाद अपने दोनों हाथ जोड़कर माता से अपनी मनोकामना जल्द पूर्ण होने की कामना करें। ऊपर बताए गए मंत्र का जाप करने से माता बहुत जल्दी प्रसन्न होती है।

- Advertisement -