लक्ष्मी गायत्री मंत्र का अर्थ हिंदी में । Lakshmi Gayatri Mantra meaning in Hindi

लक्ष्मी गायत्री मंत्र हिन्दू धर्म का एक प्रचलित मंत्र है जिसे संस्कृत भाषा में वर्णित किया गया है। इस मंत्र की सहायता से आप माँ लक्ष्मी की कृपा और आशीर्वाद की प्राप्ति कर सकते हैं। माना जाता है की इस मंत्र के जाप से आपके घर परिवार में लक्ष्मी का वास होता है तथा धन, समृद्धि, और संपत्ति कई बढ़ोतरी होती है। इस मंत्र का जाप पारिवारिक सुख शांति में भी सहायक होता है।

- Advertisement -

लक्ष्मी गायत्री मंत्र का अर्थ हिंदी में । Lakshmi Gayatri Mantra meaning in Hindi

ॐ श्री महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णुपत्न्यै च धीमहि। तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात्॥

लक्ष्मी गायत्री मंत्र का विवरण :
इस मंत्र अर्थ बड़ा ही सरल सा है, इसके माध्यम से साधक कहता है की “हम माता लक्ष्मी जो स्वयं इस संसार के पालनहार भगवान विष्णु की पत्नी हैं, को नमन करते हैं और उनकी उपासना करते है। माता लक्ष्मी हम पर कृपा करें और हमारे जीवन से सभी आर्थिक समस्याओं को दूर कर, धन-धान्य का हमें आशीर्वाद दें।”

यह भी पढ़ें: माँ लक्ष्मी, देवी सरस्वती और माँ गौरी को समर्पित यह मंत्र एक बेहद ही प्रसिद्ध और शक्तिशाली मंत्र है जिसके प्रभाव से आपके जीवन की सभी आर्थिक समस्याओं का समाधान होता है और आपको धन लाभ की प्राप्ति होती है। जानें यह विशेष मंत्र और करें इसका जाप।

इस लक्ष्मी गायत्री मंत्र के जाप के लिए प्रातःकाल और सायंकाल के समय को सबसे अधिक लाभकारी माना गया है। इस मंत्र को एक बार में 108 बार जाप करना होता है। आप चाहें तो इसके जाप हेतु एक तुलसी की माला का उपयोग कर सकते हैं। लक्ष्मी गायत्री मंत्र का नियमित जाप करते से साधक के जीवन में धन, समृद्धि, और आर्थिक संपत्ति का आगमन होता है और जीवन मंगलमय बनता है। माना जाता है की यह मंत्र धन की वृद्धि करने, व्यापार या नौकरी में सफलता प्राप्त करने, और व्यवसाय में बढ़ोतरी करने में भी बेहद ही सहायक सिद्ध होता है।

- Advertisement -