शनि मंत्र | Shani mantra lyrics in Hindi

शनि मंत्र | Shani mantra lyrics in Hindi

मनुष्य का जीवन सुख दुःख का संगम होता है। हरेक मनुष्य अपने जीवन काल में इस दौर से गुजरा होता है। इसका मनुष्य के गरीबी अमीरी से कुछ भी लेना देना नहीं है। गरीब भी खुश रह सकता और अमीर भी। इसी तरह अमीर भी दुखी हो सकता है और गरीब भी। लेकिन सबमें एक बात सामान्य है, वो है जीवन में विद्यमान परेशानियां। इन परेशानियों का भी कोई न कोई कारण ज़रूर होता है। इनमें से एक कारण ग्रह दोष भी है। आधयात्मिक मंत्र का मार्ग अपना कर ग्रह दोष से मुक्ति पाया जा सकता है (Shani mantra lyrics in Hindi)।

- Advertisement -

शनि मंत्र

ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः
ऊँ शन्नो देवीरभिष्टडआपो भवन्तुपीतये
ऊँ शं शनैश्चाराय नमः
ऊँ भगभवाय विद्महैं मृत्युरुपाय धीमहि तन्नो शनिः

शनि मंत्र का अर्थ:

हे शनिदेव आपको प्रणाम, आप जगत कालयंकारी है, आप कष्टों का हरण करते है, मृत्यु भी आपके वश में है

इस मंत्र का जाप सिर्फ शनिवार के दिन ही किया जाता है। शनिवार को स्नान के बाद काले वस्त्र पहनकर शनि देव का ध्यान कर प्रतिमा को पवित्र गंगा जल, तिल, अक्षत, फूल अर्पित करें। शनि भगवान के सामने ही इस मंत्र का 21 बार पाठ करें।

यह भी पढ़ें: अगर आप अपनी सारी परेशानियों से मुक्ति आसानी से पाना चाहते है तो सच्चे हृदय से करें इस मंत्र का जाप

7 शनिवार इस मंत्र का जाप करने से आपका शनि ग्रह शांत हो जायेगा। आप देखेंगे कि धीरे-धीरे आपकी परेशानियों का हल निकल रहा है। आपका जीवन सुचारु ढंग से चलने लगेगा। आपके परिवार में सुख शांति का प्रवेश होगा।

- Advertisement -